प्रमुख/उप प्रमुख,उप मुखिया,उप सरपंच बनने की होड़ मची।

0
218


अशोक कुमार सिंह, चनपटिया


चनपटिया में प्रमुख/उप प्रमुख तथा उप सरपंच/उप मुखिया बनने को लेकर राजनीति सरगर्मी तेज हो गया है।अबतक प्रमुख पद के दो लोगों का नाम उभरकर सामने आ रहा है।31पंचायत समिति सदस्यों को अपने अपने पक्ष में लाने के लिए प्रमुख/उप प्रमुख के प्रबल दावेदारों ने राजनीति के प्रत्येक गुण व तिकड़मबाजी को अपना रहे हैं। राजनीति गलीयारे में किसी भी कोने से कोई चूक न हो इसके लिए दिन रात एक कर रखें हैं। समिति सदस्यों का रूझान अपने पक्ष में करने को लेकर जगह जगह प्रीतिभोज का आयोजन हो रहा है तो कईयों को शैयर सपाटे पर ले निकलें हैं। चुनाव अवधि लम्बी होने से प्रबल दावेदारों को आर्थिक बोझ से भी जुझना पड़ रहा है। इससे ज्यादा माथापच्ची तो पंचायत में उप मुखिया/उप सरपंच बनने के सपना संजोए भावी प्रत्याशीयों में है।24पंचायतों में 313वार्ड सदस्यों/पंचों को कैसे मैनेज किया जाए ताकि उप मुखिया/उप सरपंच का सेहरा माथे चढ़ जाए। हालांकि उप मुखिया/उप सरपंच की ताजपोशी में मुखिया/सरपंच की भूमिका अहम होती है।यह माना जाता है कि प्रत्येक पंचायत के ये दोनों प्रधान मुखिया/सरपंच अपने चहेते को ही बगल में बैठने की ताजपोशी दिलाने का हर अथक प्रयास करते हैं। इस बार के चुनाव में कई वार्ड सदस्य/पंचों ने नव निर्वाचित मुखिया/सरपंचों का खुल्लेआम जमकर विरोध के बावजूद पंचायत सरकार के गलियारे में इंट्री लिया है। ऐसे में देखना है कि मुखिया/सरपंच के विरोध करने वाले कई वार्ड सदस्यों व पंचों में से उप के ताजपोशी किसे सुशोभित कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here