सरकारी संपत्ति की बिक्री और निजीकरण का विरोध

0
655


रिपोर्ट – गौरी शंकर प्रसाद


ईसीआरकेयू की वर्किंग कमेटी की बैठक


नालंदा (बिहार) – ईस्ट सेंट्रल रेलवे कर्मचारी यूनियन के वर्किंग कमेटी की 16वीं दो दिवसीय बैठक की गई। इसकी अध्यक्षता कॉमरेड डी के पांडेय ने की। सर्वप्रथम शहीद वेदी पर पुष्पांजलि की गई।
महामंत्री एसएनपी श्रीवास्तव ने सरकारी संपत्ति को बेचने व संस्थानों के निजीकरण का विरोध करते हुए कहा कि इसके खिलाफ बड़ा जनांदोलन करेंगे। कोरोना संक्रमण से कार्यावधि में मृत कर्मियों के आश्रितों को 50 लाख की मांग किया गया है, जिस पर अब तक कार्रवाई नहीं की गई है। यह दुखद है। उन्होने कहा कि लॉकडाउन में पूरा देश ठहर गया था। पर, ट्रेन चलती रही।
मुख्य कार्मिक अधिकारी जेकेपी सिंह ने कहा कि युनियन रेलकर्मियों की आवाज उठाने का सशक्त माध्यम है। यह प्रशासन व कर्मचारी के बीच पुल का काम करता है। इसे मजबूत बनाने की जरुरत है।
इस दौरान सर्वसम्मति से न्यू पेंशन नीति को समाप्त कर सभी को ग्रांटेड पेंशन देने, संरक्षा सहित ढाई लाख रिक्त पदों पर बहाली करने, 18 सौ वाले ग्रेड पे कैटेगरी के 50 फीसदी पदों को सीधे 19 सौ में स्वीकृत करने, ओपन टू ऑल पद्धति लागू करने, रनिंग कर्मचारियों व ट्रैक मैन को पदोन्नति के अवसर देने, मंहगाई व रात्रि भत्ते का भुगतान स्वीकृति, सभी अस्पतालों को अपग्रेड करने, आकस्मिक इलाज के लिए विशिष्ट अस्पताल से अनुबंध करने, महिला कर्मियों को विश्राम सह वाशरूम की सुविधा देने, रेल आवासों को व साइडिंग और यार्ड की साफ-सफाई कर दुरुस्त करने के साथ अन्य मांगों पर चर्चा की गई। निर्णय लिया गया कि प्रशासनिक उदासीनता पर मांगों के समर्थन में 23 सितंबर को विशाल विक्षोभ प्रदर्शन किया जायेगा।
पिछली बैठक का लेखाजोखा भी रखा गया। एआईआरएफ तथा संगठन के द्वारा विभिन्न आंदोलन, बैठक व कार्यक्रमों का विवरण प्रस्तुत किया गया।
बैठक में कार्यकारी अध्यक्ष एसएसडी मिश्रा, मिथिलेश कुमार, केदार प्रसाद, वीरेंद्र यादव, संजय कुमार मंडल, बिंदु कुमार, आर के मंडल, मो जियाउद्दीन, रमेश चंद्रा, ओमप्रकाश, मनीष, के के मिश्रा, बीबी पासवान, वीडी सिंह, पी के मिश्रा, मनोज कुमार पांडेय, मृदुला कुमारी, एस के भारद्वाज, चंद्रशेखर सिंह, पूर्णानंद मिश्रा सहित सभी शाखा मंत्री व प्रतिनिधि शामिल थे। धन्यवाद ज्ञापन सहायक महामंत्री मनीष कुमार ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here