जाति के बल पर पार्टी बनाने और बाद में थोड़े लाभ के लिए जाति व पार्टी बेच देने वालों से सावधान रहने की जरूरत: संजय जायसवाल

0
16

पटना, जनवरी 14, 2021: यूपी चुनाव में भाजपा छोड़ कर जाने वाले नेताओं पर आज भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने सोशल मीडिया के जरिए करारा हमला किया. अपने फेसबुक पोस्ट में उन्होंने लिखा कि ना खाऊंगा ना खाने दूंगा के अपने कुछ राजनैतिक नुकसान भी हैं। कल तक जो सरकार में मंत्री बने बैठे थे उन्हें यह लग रहा है कि चुनाव के समय एक ऐसे दल में चले जाएं जो स्वयं भी खाता हो और साथियों को भी खिलाता हो।

उन्होंने लिखा कि ज्यादातर ऐसे साथी 2017 में दल में आए थे और अब 5 वर्ष मंत्री रहने के बाद उन्हें चुनाव घोषणा के साथ ही बहुत सारी दिक्कतें होने लगी हैं। डॉ जायसवाल ने लिखा कि भारतीय जनता पार्टी का सिद्धांत नेताओं के लिए नहीं बल्कि जनता के लिए उत्कृष्ट साबित हुआ है। आज केंद्र सरकार ने डीबिटी के माध्यम से 20 लाख करोड़ रुपए जनता के खातों में सीधे दिया है पर कहीं भी भ्रष्टाचार नहीं हो सका।

अवसरवादी नेताओं को निशाने पर लेते हुए उन्होंने लिखा कि चुनाव में फैसला सदैव जनता करती है और जनता योगी जी और भाजपा के साथ है। पर भविष्य में हमें भी ऐसे लोगों से सावधान रहने की जरूरत है जो अपनी जाति के बल पर पार्टी बनाते हैं और फिर थोड़े लाभ के लिए अपनी जाति और पार्टी दोनों को बेच देते हैं। ऐसे व्यक्तियों के लिए सत्ता अपना आधार बढ़ाने का माध्यम होता है जिससे हर चुनाव में किसी नए दल मे खुद को और अपने समर्थकों को बेच सकें। नेताजी तो फिर से नये दल में सत्ता के शीर्ष पर पहुंच जाते हैं पर उनके समर्थक आवाक खड़े रह जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here