पिंजरापोल गौशाला परिसर में गौ-पूजन का समारोह आयोजित.

0
38

–भारतीय संस्कृति में गौ-सेवा व गो-पूजन का आध्यात्मिक महत्व: गरिमा.

–गौशाला संचालन समिति के सौजन्य से आयोजित हुआ कार्यक्रम.

बेतिया: नगर निगम की निवर्तमान सभापति गरिमा देवी सिकारिया ने वैदिक विधि विधान से गौ-पूजा कर सवामणी भोजन कराया। नगर के पिंजरापोल गौशाला में आयोजित कार्यक्रम के इस मौके पर दर्जनों श्रद्धालुओं की सहभागिता रही। इस मौके पर उन्होंने कहा कि वैदिक मान्यताओं के अनुसार गौ-सेवा और गोपूजन हमारी भारतीय संस्कृति अत्यंत महत्वपूर्ण है।हमारे वेदों में कहा गया है कि जिस घर में गाय की सेवा होती है, वहां पुत्र-पौत्र, धन, विद्या, आदि सुख जो भी चाहिए, मिल जाता है। जिस घर में बछड़े सहित गाय रहती है, उस घर में सर्वथा मंगल होता रहता है। इसलिए गोमाता की सेवा व पूजा अवश्य करनी चाहिए।वैदिक मान्यताओं के आधार पर श्रीमती सिकारिया ने बताया गाय पालन करना बहुत लाभकारी है। इससे घरों में सर्व बाधाओं और विघ्नों का निवारण हो जाता है। बच्चों में भय नहीं रहता। सवत्सा गाय अर्थात बछड़े सहित के दर्शन व शकुन लेकर यात्रा पर जाने से कार्य सिद्ध होता है। किसी भी साक्षात्कार, उच्च अधिकारी से भेंट आदि के लिए जाते समय गाय के बोलने की ध्वनि कान में पड़ना शुभ होता है। इस मौके पर गौशाला के सचिव सुरेश सिंघानिया, दीपक कनोडिया, प्रभु जी, संजय झुनझुनवाला, रेणु पोद्दार, प्रेम सोमानी, रवि गोयनका, संजय जैन की सहभागिता रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here