संत पॉल इंग्लिश स्कूल को प्लस टू का दर्जा, खुशी

0
46


रिपोर्ट – गौरी शंकर प्रसाद

नालंदा (बिहार) – हरनौत स्थित संत पॉल इंग्लिश स्कूल में अगले सत्र से सीबीएसई बोर्ड की प्लस टू तक पढ़ाई होगी। इसके लिए सीबीएसई की ओर से स्कूल को मान्यता दी गई है। इससे वर्तमान में दसवीं क्लास के तीन सौ से अधिक अध्ययनरत छात्रों को आगे की पढ़ाई के लिए प्लस टू की संबद्धता वाले स्कूल व कॉलेजों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। सीनियर सेकेंडरी लेवल का दर्जा मिलने के बाद स्कूल परिसर में खुशी का माहौल है। चेयरपर्सन ने सभी शिक्षकों को मिठाई खिलाकर और बेहतर करने की शुभकामनाएं दीं।
स्कूल के सेक्रेटरी सह प्रिंसिपल बीजू थॉमस ने बताया कि दसवीं में पढ़ाई के लिए छात्र की 360 सीटें हैं। पिछले सत्र में नामांकित 285 में से सभी छात्र ने परीक्षा पास की। इनमें 28 छात्रों को 90 फीसदी से अधिक अंक मिले।
चेयरपर्सन सह प्रबंधक वीणा बीजू ने बताया कि यह हमारे शिक्षक व छात्रों की मेहनत का परिणाम है। अभी हमारे पास स्कूल की मल्टीपरपस बिल्डिंग, प्ले ग्राऊंड व आधुनिक तकनीक से शिक्षा के तमाम संसाधन हैं।
उन्होंने बताया कि यह स्कूल वर्ष 1996 में शुरू हुआ। वर्ष 2007 में इसे सरकारी मान्यता मिली। वर्ष 2014 में स्कूल को सीबीएसई से दसवीं के बोर्ड की मान्यता मिली। अभी तक दसवीं के छह बैच निकल चुके हैं। अगले सत्र से प्लस टू के लिए भी नामांकन शुरू होगा।
इस दौरान स्कूल के वरीय शिक्षक मनोज कुमार, को-ऑर्डिनेटर प्रभाकर भारती, विनोद कुमार, कालीचरण ठाकुर, एंथोनी नवीन, ग्रिजेश झा, लियो सुरीन, सुषमा कुमारी, सांद्रा बार्वा, शुभम तेजस्व, अविनाश गुप्ता मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here