पटना- सुशासन के राज्य में बढ़ती जा रही है पुलिस की मनमानी और अपराधी होते जा रहे है बेलगाम।

0
15

ब्यूरो रिपोर्ट पटना

पटना गोपालपुर थाना कांड संख्या 243/21 के आरोपित अब तक पुलिस के गिरफ्त से बाहर।सूत्रों के अनुसार चंदा के नाम पर मांगा गया रंगदारी। लापरवाह और मनमाने हाथों में गोपालपुर थाने की कमान।

ऐसा प्रतीत होता है कि सुशासन के राज्य में अपराधियों का मनोबल को बढ़ता ही जा रहा है । गोपालपुर थाना कांड संख्या 243/21 के आरोपित अब तक पुलिस के गिरफ्त से बाहर। मध्यम बर्ग को नहीं मिल रहा इंसाफ,महीनों से आरोपी है फरार इंसाफ की गुहार लगा रहे है,पीडित परिवार,डरे सहमे हुये महीनों से घर मे है बन्द,गोपालपुर थाना प्रभारी, से न्याय की गुहार लगाते थक चुके है,थाना अस्वासन और कैमरे लगाने को कह कर अपना पल्ला झाड़ रही है, सुशाशन बाबू की प्रसाशन इतनी लापरवह क्यों ? हाई प्रोफाइल के केशो संज्ञान में पुलिस त्वरित करवाई करती है और तो और तुरन्त अपराधी को जेल भेज दिया जाता है। लेकिन गरीब किसानों के केशो में ऐसा करवाई क्यों नही किया जाता।
पटना जिले के गोपालपुर थाना इन दिनों सुर्खियों में है। सुर्खियों के केंद्र में यहां की थाना प्रभारी अभिषेक कुमार रंजन की मनमानी कार्यशैली है। बीते दिन मनोहरपुर कछुआरा गावँ में चंदे मामले को लेकर विवाद हुआ था जिसमे उदय सिंह,समीर कुमार, निशि कुमारी,सुधीर कुमार के परिवारों के द्वारा सुनील सिंह,अविनाश कुमार ,नीतीश कुमार को गोली मारी गई थी। गोली की आवाज सुनते है गांव में अफरा तफरी का माहौल बन गया था। गोली लगने के बाद स्थानिय लोगो के सहयोग एबं घायल के बहनोई के सहयोग से आनन फानन में फोर्ड अस्पताल में भर्ती कराया गया था। थाने का क्षेत्र काफी बड़ा है और आए दिन यहां कोई न कोई वारदात भी होती रहती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here