नेता प्रतिपक्ष श्री तेजस्वी यादव जी का सोच लालटेन युग का है : अरविन्द सिंह

0
43

राजद के विकृत संगत और पंगत की सोच झलकती है श्री तेजस्वी यादव में : अरविन्द सिंह

26 अगस्त पटना : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अरविन्द कुमार सिंह ने कहा है कि नेता प्रतिपक्ष श्री तेजस्वी यादव जी का सोच लालटेन युग का है राजद के विकृत संस्कृति, संगत और पंगत की सोच झलकती है उनकी मानसिकता में।

अपने पिता के द्वारा किए गए घोटालों के धन से अन्न खाते-खाते उनका मन भी उसी तरह से बदल चुका है, उनके आंख पर जो चश्मा है वह भी अच्छे लोगों में भी सिर्फ घोटाला देखता है, इसलिए कहा गया है कि (जैसा खाओगे अन्न वैसा ही होगा मन)।

श्री सिंह ने कहा कि राजद के शासनकाल में गरीबी, भुखमरी, बेरोजगारी, अनियंत्रित जनसंख्या की बढ़ोतरी, बदहाल जीवन न चिकित्सा की सोच ना अपराध पर लगाम, बढ़ते अपराध अपहरण व्यापारियों का पलायन हत्या, बलात्कार, लूट, जातीय उन्माद, महिलाओं का घर से निकलना दूभर यह सब लोग अब कल्पना भी नहीं करते हैं, अपराधियों को कानूनी सहायता, यह राजद के शासनकाल की उपलब्धियां थी।

श्री अरविन्द सिंह ने कहा है कि एनडीए के शासन काल में जब श्री तेजस्वी यादव जी नेता प्रतिपक्ष बने तो एनडीए के शासन के संगत का असर है, आप जो विकास की बातें कर रहे हैं, आप विकास का मतलब समझिए विकास का मतलब रोजगार होता है, विकास का मतलब स्वास्थ होता है, चिकित्सीय उपलब्धियां होती है, शिक्षा होता है, गरीब को भोजन होता है गरीबों को गरीबी रेखा से ऊपर उठाना ही एनडीए सरकार का पूर्ण उद्देश्य है और जनसंख्या पर नियंत्रण होता है, सड़के होती है, एनडीए सरकार में आपको विकास दिखाई पढ़ रही है, इसलिए आपको उम्मीद भी आप एनडीए सरकार से ही कर रहे हैं।

नेता प्रतिपक्ष श्री तेजस्वी यादव जी जनता का विश्वास जीतना है तो विकास की राह पर चलिए जात पात धार्मिक उन्माद से जनता को अब बरगलाने से काम नहीं चलेगा।

 जनता अब जात-पात से ऊपर उठ चुकी है जनता अब गरीबी रेखा से ऊपर उठना चाहती है, और विकास शिक्षा स्वास्थ्य और बेरोजगारी को दूर करना चाहती है, जनता गरीबी को दूर करना चाहती है।
 अब जनता जात-पात हिंदू मुसलमान के चक्कर में नहीं पड़ेगा।

आपके माता-पिताजी ने जात-पात और धार्मिक उन्माद फैलाकर बहुत दिन जनता को बरगला कर  बिहार शासन कर लिए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here