बॉलीवुड अभिनेत्री नीतू चंद्रा एवं शशांक गुप्ता ने वीडियो का निर्माण किया है और निर्देशक हैं राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित नितिन नीरा चंद्रा

0
6

प्रिया मल्लिक की झिझिया ने धूम मचाया


गायन की अपनी विशेष शैली को लेकर तेजी से लोकप्रिय हो रही गायिका प्रिया मल्लिक का नया गाना ‘झिझिया’ लोगों को खूब पसंद आ रहा है और सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। प्रिया द्वारा गाए इस लोकगीत की लोकप्रियता का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसके रिलीज होने के बाद बिहार के कई प्रमुख स्थानों पर आयोजित ‘झिझिया महोत्सव’ इस गाने को समर्पित किया गया है। अपने गायन में लोक-संस्कृति को प्रमुखता देने वाली प्रिया का यह नया गाना मैथिली लोक नृत्य ‘झिझिया’ पर आधारित है। इसका निर्माण किया है बॉलीवुड अभिनेत्री नीतू चंद्रा एवं शशांक गुप्ता ने जबकि इसका निर्देशन किया है नितिन नीरा चंद्रा ने।
वीडियो के डायरेक्टर नितिन चंद्रा अपनी फिल्म ‘मिथिला मखान’ के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित हैं। उन्होंने बताया कि ‘झिझिया’ का यह वीडियो मिथिला की महान संस्कृति को प्रजेंट करने के लिए बनाया गया है, जिसमें बिहार के स्थानीय कलाकारों को प्रस्तुति का मौका दिया गया। शूटिंग के दौरान कलाकारों को ट्रेनिंग दी गई और लोक नृत्य की इस खूबसूरत रचना को कैमरे में उतारा गया। नृत्य में लड़कियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है। हमारा लक्ष्य अपनी सांस्कृतिक विरासत, संगीत और नृत्य को नए तकनीक से रिप्रजेंट करना है। प्रिया की आवाज़ ने भी इस पारंपरिक गीत को एक नया अंदाज़ दिया है।

विदित हो कि प्रिया पिछले कुछ महीनों में अपने द्वारा गाये बिहारी लोक संगीत खासकर मैथिली गीतों के लिए तेजी से चर्चा में आई हैं। ‘आजु मिथिला नगरिया निहाल सखिया’, ‘ए पहुना यही मिथिले में रहू ना’, ‘अरजि-अरजि भोला केकरा के देई छी’ एवं महाकवि विद्यापति के गीतों को गाकर लोकगीत में अपनी एक अलग पहचान बनाने वाली प्रिया ने ‘बेजोड़’ चैनल के लिए मैथिली का मशहूर लोकगीत ‘झिझिया’ गाया है। बहुत जल्द अन्य गीतों की तरह यह भी दुनिया के जाने माने ओटीटी ऑडियो प्लेटफॉर्म पर भी रिलीज हो रहा है। इस गीत को अपने संगीत से सजाया है संगीतकार सुनील पवन ने।
झिझिया मिथिलांचल का एक प्रमुख लोक नृत्य है। दुर्गा पूजा के मौके पर इस नृत्य में लड़कियां बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेती है। मिथिलांचल के इस नृत्य में कुवारीं लड़कियां अपने सिर पर जलते दिए एवं छिद्र वाली घड़ा को लेकर नाचती हैं। झिझिया नृत्य राजा चित्रसेन एवं उनकी रानी के प्रेम प्रसंगों पर आधारित है।

झिझिया मिथिलांचल,बिहार का एक प्रमुख लोक नृत्य है।ग्रामीण मान्यतानुसार इस गीत में तंत्र मंत्र के बुरे प्रभाव से बचाने के लिए लड़कियाँ गीत गाकर अपने इष्ट देव ब्रह्म बाबा को आमंत्रित करती है कि वह आए और डायन जोगिन के बुरे प्रभाव से जनमानस को बचाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here