पटना यातायात हड़ताली यातायात पोस्ट पर चालान काटने के बाद युवक के द्वारा दी गई धमकी एवं देख लेने की बात कही गई।

0
262

सनोवर खान के साथ सुधांशु रंजन कि रिपोर्ट

पटना :पटना यातायात पुलिस यानी ट्राफीक पुलिस के दर्दो को किसी ने देखा या समझा होगा जो धूप,पानी,गर्मी,बरसात आंधी में भी अपनी ड्यूटी पूरे ईमानदारी से निभाते है। तब भी कोई भी आदमी,आम जनता,नेता,सेवक चाहे किसी भी पदाधिकारी को खरी-खोटी सुना कर चले जाते हैं जी हां यह मामला पटना के हाई प्रोफाइल जगह हड़ताली मोड़ पर चालान काटने को लेकर बिवाद बढ़ा। मारा पिटी धक्का मुक्की पर उतारू हो गए। उतना ही नही जिन युवकों का चालान कटा वहाँ पर उस बन्दे के द्वारा दो से तीन घंटे सरकारी काम मे बाधा डाला गया। सरकारी राशि की क्षति हुई। किसी का भी चालान नही काटने दिया। यहाँ तक कि अपने दोस्तों को बुला के भीड़ लगा दिया। चालान कर्ता ने जिन लोगो को बुलाया था वो लोग अपने आप को SDO कह रहे थे। ट्राफीक यातायात पदाधिकारी मोहम्मद आशिक को भीड़ भाड़ का सामना करना पड़ा।स्थानीय यातायात पुलिस द्वारा रविवार शाम शहर के वीआईपी जगह जाने-माने हड़ताली मोड़ शहर के चालान काटने की कार्रवाई शुरू की गई।वैसे तो चालान लगातार यातायात कर्मियों के द्वारा चलाया जा रहा है यातायात अधीक्षक दी अमरकेश के आदेशो पर लगातार ट्रैफिक पुलिस कर्मियों ने द्वारा करीबन दुपहिया चार पहिया वाहनों के चालान काटे जा रहे है।

पुलिस ने रोका तो बाइक सवार ने ट्रैफिक पुलिस कर्मी के कान पर फोन लगा दिया। किसी तरह की सिफारिश नहीं मानते हुए चालान कर दिया गया।
ट्रैफिक इंचार्ज हड़ताली मोड़ मो0 आशिक ने बताया कि वाहन चालक यातायात नियमों का पालन नहीं कर रहे थे ऐसे में लापरवाही बरतने वाले चालकों के चालान किए जा रहे थे।अला अधिकारी के आदेशो के अनुसार अभियान जारी रहेगा। सबसे बड़ी बात यह है कि इन यातायात अधिकारी को सुरक्षा देने वाला कौन। जो लोगो की सुरक्षा के लिए दिन रात मेहनत करके लोगो के बीच मास्क लगाओ अभियान, हेलमेट लगाओ अभियान, सिल्ट बेल्ट अभियान लगातार चलाते रहते है तो ऐसे में उनकी सुरक्षा देने वाला कौन। मौके पर स्थानीय थाना ने आकर मामले को शांत कराया