सीतामढी:- जिले में निजी कोचिंग संस्थानों द्वारा जमकर कोरोना नियमों की धज्जियाँ उड़ाई जा रही हैं। जिला प्रशासन व पुलिस को जानकारी होने के बाबजूद भी वे कोई कार्रवाई नहीं कर पा रहे हैं।

0
124

रिपोटर:- चन्दन देव सीतामढ़ी। सरकार और जिला अधिकारी के आदेश की धज्जियां उड़ाते निजी कोचिंग संचालक , प्रशासन को भनक मिलने के बाद भी नही हो रही कोई कार्रवाई

बिहार अब इसे जिला प्रशासन की मजबूरी कहें या निष्क्रियता ।
बता दें कि मामला सीतामढ़ी शहरी निकाय का हैं। जहाँ प्रशासन की निष्क्रियता व लोगों की लापरवाही के कारण कोरोना नियमों को ताक पर रखकर जमकर धज्जियाँ उड़ाई जा रही हैं। बिना आदेश के कई निजी कोचिंग संस्थानों का संचालन किया जा रहा हैं। कहने को तो नगर थाना पुलिस सुबह-शाम शहर में गली मोहल्ले चौक-चौराहे पर सघन गस्ती करते नजर आती हैं। बाबजूद इस तरह से कोचिंग का संचालन होना प्रशासनिक कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह खड़ा करती हैं।
जब सरकारी आदेश की जमीनी तहकीकात की गई तो शहर के कई हिस्सों में कोचिंग क्लास चल रही थी। क्लासरूम के अंदर शिक्षक से लेकर बच्चों तक के चहरे से मास्क गायब थे। मानों ऐसा लग रहा था जैसे कोरोना से जंग जीत लिए हो।
कोचिंग में बच्चों को पढ़ा रहे शिक्षक
ग़ौरतलब हो कि राज्य सरकार द्वारा कोरोना संक्रमण के चैन तोड़ने के लिए लगातार लॉक डाउन लगा रही हैं और नियमों में परिवर्तन कर रही हैं। बाबजूद लोग अपनी आदत से हार नही मान रहे है और लापरवाही इस कदर बढ़ रही है कोरोना संक्रमण का खतरा एक बार फिर से मंडराता हुआ दिख रहा हैं।
ज्ञात हो कि इससे कुछ दिनों पूर्व भी खबर प्रकाशित कर प्रशासन को इससे आगाह किया गया था बाबजूद प्रशासन की नींद नही खुली और कोचिंग का संचालन होता रहा । अब देखना यह होगा कि इस बार फिर से खबर प्रकाशित होने के बाद जिला प्रशासन कोई कार्रवाई कर पाती है या नही ताकि कोरोना संक्रमण बढ़ने पर लगाम लग सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here