बारिश से हरनौत बाजार क्षेत्र में पानी ही पानी

0
94

रिपोर्ट – गौरी शंकर प्रसाद


कई मोहल्लों में घर से निकलने में भी परेशानी


नालंदा(हरनौत) – पिछले कुछ महीनों के दौरान हरनौत बाजार में जलजमाव की समस्या के समाधान के लिए विभिन्न विभागों की बैठक युद्धस्तर पर की गई। कार्यस्थलों की नाप-जोख और उसकी ड्राफ्टिंग भी की गई। मुख्यमंत्री के विशेष निर्देश पर डीएम की निगरानी में ये काम किये गये। डीएम के समक्ष इसका प्रजेंटेशन भी किया गया। संशोधन भी किये गये। अब करीब 35 करोड़ के प्रोजेक्ट को नगर विकास विभाग से अप्रूवल का इंतजार है। इस बीच कल देर शाम से लगभग रातभर हुई भारी बारिश से हरनौत बाजार पानी-पानी हो गया है।
सबसे ज्यादा परेशानी बीच बाजार, आदर्श नगर, शिवाजी नगर, पटेल नगर, गौतम नगर, स्टेशन गली, अंबेदकर नगर, गोनावां रोड बाजार के लोगों को हो रही है। यहां संपर्क पथों पर जलजमाव हो गया है। लोगों को घर से निकलने तक में परेशानी हो रही है। पुराने बने मकानों के बेसमेंट में पानी भर चुका है।
बुद्धिजीवियों का तो यह भी कहना है कि जलस्त्रोतों में पानी नहीं है। बारिश का पानी उसमें आराम से आ सकता था। पर, लोगों ने घर और दुकान की पहुंच को बढ़ाने के लिए जलनिकास के रास्तों को भी भर दिया। इसका नतीजा वे खुद भुगत रहे और दोष दूसरों पर थोप रहे हैं।
बीच बाजार के लोगों ने बीच में बने नाले की उड़ाही की मांग की है। इसमें भी वे अपनी ही गलती का दंश झेल रहे हैं। सफाई के बाद कूड़े नाले में ही डाल दिये जाते हैं। इससे पूरा नाला जाम पड़ा है।
दो-तीन दिनों तक मौसम खुलने से जलवायु अनुकूल खेती में सरथा सहित पांच गांवों में धान की सीधी बुआई का लक्ष्य भी हासिल किया जा सकता था। पर दिन की कसर रात की बारिश ने निकाल दी।
सरथा के किसान अक्षय कुमार बताते हैं कि लगातार बारिश से जलजमाव के चलते वे बिचड़ा तैयार कर रहे हैं। करीब तीस एकड़ में सीधी बुआई की जा सकी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here