ग्लोबल कायस्थ कॉनफ्रेंस के सौजन्य से पद्मश्री डॉ मानस बिहारी वर्मा की स्मृति में

0
28

कायस्थ विज्ञान सम्मान
देश के प्रति डॉ. मानस बिहारी वर्मा का योगदान अविस्मरणीय : राजीव रंजन प्रसाद
नयी दिल्ली पटना, 13 जुलाई ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ्रेंस (जीकेसी) के सौजन्य से पद्मश्री डॉ मानस बिहारी वर्मा की स्मृति में 29 जुलाई को “कायस्थ विज्ञान सम्मान”का आयोजन किया जायेगा।
देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में अपना नाम रौशन करने वाले महान वैज्ञानिक मानस बिहारी वर्मा का हाल ही में निधन हो गया है। दिवंगत मानस.बिहारी वर्मा की स्मृति में जीकेसी ने उनकी जयंती 29 जुलाई के अवसर पर कायस्थ विज्ञान सम्मान समारोह का आयोजन करने का निर्णय लिया है।
जीकेसी के राष्ट्रीय प्रवक्ता कमल किशोर ने बताया कि “कायस्थ विज्ञान सम्मान”विज्ञान के छात्रों द्वारा किए गए रचनात्मक कार्यों एवं शिक्षा में योगदान के लिए प्रदान किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस वर्ष हम यह सम्मान समारोह प्रसिद्ध वैज्ञानिक, *पद्म श्री डॉ. मानस बिहारी वर्मा* को समर्पित कर रहे हैं,जिन्होंने *तेजस* लड़ाकू विमान को विकसित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी, जो हमारे राष्ट्र के लिए गर्व की बात है। उन्होंने बताया कि नॉमिनेशन भेजने की अंतिम तिथि 15 जुलाई है।नॉमिनेशन फ़ॉर्म लिंक है, https://forms.gle/wAenKzyD9cnjappa7
जीकेसी के ग्लोबल अध्यक्ष राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि पद्मश्री डा. मानस बिहारी का जीवन राष्ट्र के प्रति समर्पित था। देश के प्रति डॉ. मानस बिहारी वर्मा का योगदान अविस्मरणीय है। उन्होंने कहा कि देश में जब भी विज्ञान के क्षेत्र में विकास की बात की जायेगी श्री मानस बिहारी वर्मा नाम स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाएगा।उनके द्वारा विज्ञान और शिक्षा के क्षेत्र में किये गये कार्य लोगों के लिये प्रेरणास्रोत है। डॉक्टर मानस बिहारी वर्मा ने 35 वर्षों तक अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) में एक वैज्ञानिक के रूप में काम किया। तेजस फाइटर जेट विमान की डिज़ाइन बनाने की पूरी जिम्मेदारी उन्होंने संभाली थी।
शिक्षा एवं प्रशिक्षण प्रकोष्ठ के वैश्विक अध्यक्ष दीपक कुमार वर्मा ने बताया कि कायस्थ विज्ञान सम्मान के चयन के लिये प्रतियोगिता 11वीं और 12वीं विज्ञान के छात्रों के लिए होगी।2. पहले दौर में – छात्र एक सेल्फ इनोवेटिव प्रोजेक्ट जमा करेंगे।3. विशिष्ट गूगल फ़ॉर्म पहचान के लिए भेजा जाएगा।4. राउंड-1 – 2 मिनट का वीडियो या चित्रों के साथ पीडीएफ5. इसे 15 जुलाई 2021 तक जमा करना होगा।6. राउंड-II : विज्ञान प्रश्नोत्तरी 24 जुलाई को शाम 7 बजे आयोजित की जाएगी7. प्रश्नोत्तरी विषय : 11वीं तक विज्ञान विषय और वैमानिकी।8. परिणाम 29 जुलाई 2021 को घोषित किए जाएंगे।
श्री दीपक कुमार वर्मा ने बताया कि 1. प्रत्येक क्षेत्र (भारत के 5 क्षेत्रों) के 3 छात्रों (कुल छात्र 15 ) को पुरस्कार के लिए अंत में चयन किया जाएगा।2. प्रथम पुरस्कार: विज्ञान पुस्तकें + किसी प्रतिष्ठित संस्थान से 8 घंटे की तकनीकी शिक्षा + प्रमाण पत्र3. द्वितीय पुरस्कार : विज्ञान पुस्तकें + प्रमाण पत्र के साथ स्मृति चिन्ह4. तीसरा पुरस्कार: स्मृति चिन्ह + प्रमाणपत्र5. सभी प्रतिभागियों को “भागीदारी प्रमाणपत्र” मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here