कंकड़बाग के निवासियों के लिए एक बड़ी खुशखबरी।

0
91

पटना से मनोज सिंह के साथ सरवर खान की रिपोर्ट


बिहार सरकार के उपमुख्यमंत्री सह नगर विकास एवं आवास मंत्री तार किशोर प्रसाद ने कहां है कि आवास बोर्ड लोगों की समस्या के समाधान के लिए एक नई ऊर्जा के साथ काम शुरू करेगा। उन्होंने बोर्ड के प्रबंध निदेशक को कहा कि जल्द ही आवास बोर्ड की अतिक्रमण की गई संपत्तियों को मुक्त कराने हेतु ठोस समाधान निकालें।
कंकड़बाग रेंटल फ्लैट समन्वय समिति के सचिव हृदय बिहारी सिंह ने बताया कि हम लोग 2 पीढ़ी से अपने मालिकाना हक के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं लेकिन आवास बोर्ड हमारी सुन नहीं रहा है हालांकि इसमें सबसे बड़ी बाधा राज्य सरकार है आवास बोर्ड के बैठक में प्रस्ताव पारित हो गया था कि रेंटल फ्लैट लोगों को मालिकाना हक देना है राज्य कैबिनेट की बैठक में इसको तोड़ कर बहुमंजिला इमारत बनाने का प्रस्ताव पारित हो गया है, हालांकि इनका मामला कोर्ट में लंबित है और दोनों पक्ष न्यायालय के फैसले का इंतजार कर रहे हैं।
बहादुरपुर हाउसिंग कॉलोनी के सचिव एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता हीरा सिंह ने बताया कि हाउसिंग बोर्ड के अभियंता व कर्मचारी यहां के रहने वाले लोगों को काफी परेशान करते हैं उनको उनका हक देना नहीं चाहते हैं एवं पूरी तरह से भ्रष्टाचार में लिप्त है ,नहीं तो यहां के निवासी पैसा देकर मकान लेना चाहते हैं फिर भी अधिकारी इसमें अपनी रुचि नहीं दिखा रहे हैं जिस कारण से लोगों को मकान का आवंटन नहीं हो रहा है।
दूसरी तरफ कार्यपालक अभियंता प्रमुख ने बताया कि हम लोगों ने 280 मकानों की न्यूज़पेपर में विज्ञापन दिया था लेकिन कोई भी व्यक्ति मकान लेने के लिए नहीं आए।
लगभग 15 वर्षों से यहां भाजपा की शासन है एवं नगर विकास एवं आवास मंत्री इन्हीं के जिम्मे है लेकिन इस समस्या का स्थाई समाधान जनप्रतिनिधि नहीं निकाल सके तो क्या कहा जाए इसके ऊपर केवल राजनीति हो रही है और लोगों को ठगा जा रहा है नहीं तो हर समस्या का समाधान है
स्थानीय निवासियों ने बताया कि जब जब चुनाव आता है जनप्रतिनिधि भरोसा और विश्वास दिलाते हैं और उसके बाद भूल जाते हैं नहीं तो क्या कारण है कि इनकी सरकार के रहते इस समस्या का समाधान नहीं निकल रहा है अब देखना यह दिलचस्प होगा कि नए उपमुख्यमंत्री तारकेश्वर प्रसाद अपने कार्यकाल में इस समस्या को समाप्त करने में दिलचस्पी लेंगे या पुनः उसी तरह उसी स्थान पर छोड़ देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here